क्रिप्टोकरेंसी बाजार

मोमबत्ती योजना

मोमबत्ती योजना
Solution : माना दर्पण दीवार से `x` मी दूर रखा जाता है

`u=PO=-(x-3)`
`v=Pl=-x`
रेखीय आवर्धन, `m=(l)/(O)=(v)/(u)` मोमबत्ती योजना
या `(9)/(3)=(-x-3)/(-x)`
या `3x-9=x` या `2x=9`
या `x=4.5` मी

मोमबत्ती बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें (Candle Making Business In Hindi)

मोमबत्ती बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें: चाहे बर्थ डे पार्टी हो या फिर घर की बिजली चली गई या फिर चर्च में हर जगह मोमबत्ती का उपयोग किया जाता है. कुछ लोग इसका इस्तेमाल बिजली कट जानें पर घर में रोशनी करनें के लिए करते है तो कुछ इसका इस्तेमाल चर्च में करते है.

Mombatti एक ऐसी वस्तु में से एक है, जिसकी मांग कभी कम नही होगी, उल्टा निरंतर बढ़ती ही रहती है. 2010 की रिपोर्ट के अनुसार वेक्स की मांग में 10,000 मिलियन पाउंड तक हुई, जिसमें से 50% हिस्सा मोमबत्तियो का है.

क्या आप कम लागत में शुरु होने वाले बिज़नस की तलाश में है? तो मोमबत्ती बनानें का बिज़नस स्टार्टअप के लिए काफी अच्छा बिज़नस है.

क्योंकि इस बिज़नस में मोमबत्ती को बनाना काफी आसान है. मोमबत्ती बनानें के बिज़नस को शुरू करने की लागत भी कम होती है तथा इसके अधिक बिजली की भी जरुरत नही होती है.

मोमबत्ती बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें (Candle Making Business In Hindi)

अंत: यह बिज़नस आपके लिए काफी लाभदायक होगा. इस बिज़नस संबधित अधिक जानकारी जैसे मोमबत्ती कैसे बनती है, मोमबत्ती बनाने का बिज़नस कैसे शुरु करे, मोमबत्ती के बिज़नस में कितना लाभ होता है आदि के बारें में विस्तार से जानेंगे.

मोमबत्ती बनाने का व्यापार क्यों शुरू करें?

मोमबत्तियो का इस्तेमाल घर मे रोशनी फैलाने, जन्मदिन मनाने में किया जाता है. इस तरह मोमबत्ती की मांग लगातार बढ़ रही है.

इसके अलावा Candle Making Business को शुरु करनें में कम लागत की आवश्यकता होती है लेकिन इस बिज़नस में आपको अच्छा लाभ मिल जाता है.

इसलिए आप इस Best Business Ideas को शुरू करते है तो आपका इस बिज़नस में सफल होने के अवसर बहुत अधिक है. अंत: इस बिज़नस शुरू किया जाना चाहिए.

  • 2010की रिपोर्ट के अनुसार वेक्स की मांग में 10,000 मिलियन पाउंड तक हुई, जिसमें से 50% हिस्सा मोमबत्तियो का है.
  • एक डाटा के अनुसार वर्ष 2019 से 2026 तक मोमबत्ती की इंडस्ट्री सीएजीआर रेट6.3% की दर बढेगी तथा वर्ष 2026 तक USD13.72बिलियन की इंडस्ट्री बन जायेगी.
  • एक सर्वे की जानकारी के अनुसार भारत में मोमबत्ती का व्यापार 8 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है.

बाजार में मोमबत्ती की मांग कितनी है? (Scope and Demand)

हालांकि दुनियां में बिजली उत्पादन होने के कारण अब मोमबत्ती का इस्तेमाल नही किया जाता है. लेकिन इसके बावजुद बिजली जाने के दौरान रोशनी करने के लिए घर में पहले से ही मोमबत्ती रखी जाती है.

हालांकि अभी भारत में बिजली की कमी हो रही है, इसलिए छोटे-छोटे शहरो में बिजली वापस कटना शुरु हो गई. इसके साथ ही मोमबत्ती की मांग भी बढ़ चुकी है.

ऐसा नही है कि मोमबत्ती का इस्तेमाल सिर्फ बिजली जानें के दौरान ही होता है. मोमबत्तियो का इस्तेमाल घर में रोशनी फैलाने, कई अवसरो पर खुशियां मनानें के दौरान तथा चर्च में होता है.

हर साल कई सारे लोग अपना जन्मदिन बङी खुशियों के साथ जिसमें वे मोमबत्तियो का इस्तेमाल करते है. वही त्यौहारो जैसे दीपावली के दिनों में मोमबत्तियो की मांग भी काफी बढ़ जाती है.

इसके उपयोग के कारण मोमबत्ती की मांग कभी कम नही होगी. इसलिए अगर आप इस बिजनेस शुरु करते है तो आप इस बिज़नस में सफल मोमबत्ती योजना हो सकते है.

मोमबत्तियां कितने प्रकार की होती है? (Types of Candles)

वैसे देखा जाए तो सभी मोमबत्ती का एक ही कार्य रोशनी फैलाना होता है लेकिन इनका इस्तेमाल अगल अलग अवसरो पर किए जानें के कारण ये बाजारो में अलग अलग प्रकार की व डिजाइन में आती है.

मोमबत्ती योजना

Please Enter a Question First

किरण प्रकाशिकी एवं प्रकाशिक यन्त्र

3 सेमी लम्बी मोमबत्ती की ज्वाल .

`3` सेमी लम्बी मोमबत्ती की ज्वाला, दीवार से `3` मी दूर स्थित है। एक अवतल दर्पण को दीवार से कितनी दूर रखें कि दीवार पर ज्वाला का `9` सेमी ऊँचा प्रतिबिम्ब प्राप्त हो ?

Updated On: 27-06-2022

UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Solution : माना दर्पण दीवार से `x` मी दूर रखा जाता है

`u=PO=-(x-3)`
`v=Pl=-x`
रेखीय आवर्धन, `m=(l)/(O)=(v)/(u)`
या `(9)/(3)=(-x-3)/(-x)`
या `3x-9=x` या `2x=9`
या `x=4.5` मी

Get Link in SMS to Download The Video

Aap ko kya acha nahi laga

हेलो फ्रेंड्स ऑफिस कोचिंग में दे रखा है कि 3 सेंटीमीटर लंबी मोमबत्ती की ज्वाला दीवार से 3 मीटर दूर स्थित है एक अवतल दर्पण को दीवार से इतनी दूर रखें के दीवार पर ज्वाला का 9 सेंटीमीटर ऊंचा प्रतिदिन हो तुझे क्या प्रोजेक्ट है जो मोमबत्ती दे रखी है मालिक जैसी आपकी आपके पास मोमबत्ती तो होगा आपके पास ऑब्जेक्ट इतना ही 3 सेंटीमीटर का और यह एक दीवार से 3 मीटर दूर है आपके पास ठीक है ना हो या 3 मीटर पर आपके परिवार है एक एक अवतल दर्पण को दीवार से कितनी दूर रहते हैं कि दीवार का दीवार पर ज्वाला का 9 सेंटीमीटर ऊंचा प्रति भिमानी पर आपको एक दर्पण बताना अवतल दर्पण कहां रखे किस तरह रखें

क्या फूफा जी इमेज बने कितने सेंटीमीटर ऊंची होगी एनी क्या कोई तो मैग्नीफिकेशन चाहिए कितने का आपके पास दर्पण के लिए होता है - काफी बड़ी है ना तो इतने कुणाची आपको 900 से ऊपर चाहिए कौन सा चाहिए उसको अमेजॉन हेड ऑफिस योजना के पास 9 बटा 3 एनी की नदी का प्रवाह जो मैग्नीफिकेशन ही मालिक है जो अवतल दर्पण उसको रखना अपने क्षेत्र में यह 9 सेंटीमीटर ऊंची प्रतिबिंब प्राप्त हो रही संख्या बता सकते हैं कि जो आपके पास इमेज इमेज कितनी दूर जाकर बनेगी इनकी एक ही वाली कितने बजे की आखिरी वासुदेव की दूरी और

जीते इमेज की दूरी और मालिक द्वारा अवतल दर्पण तो इनके बीच की दूरियां पर बोल देते एक्स एक्स के बीच में दर्पण और दीवार के बीच में दूरी हो तो मिलेगी मजबूरी है एक दूरी तो इसका मतलब 1 का मान कितना होगा फिर बाद एक समान होगा कि सामी के बराबर क्यों सूची में जाकर कहां पर ले इस दीवार पर बने ठीक है ना तो जो ऑब्जेक्ट इसके लिए होगा यहां से कुछ रह जाएंगी टकराकर वापस दीवार पर इमेज में आएंगे आपके पास तो यहां से कैलकुलेट करें मिरर और दीवार के बीच की दूरी क्या मान्य मान्य सोनी कि यहां से कह सकते कि आपके बजे इमेज होगी सैनिक जो इमेज है और एक दूरी एक्स है वह किसके बराबर होगी वी के बराबर दो कि मैं यहां पर गंदी टकराने के बाद तो यह हो गया फूफा जी कैसे नंबर दो बोल देते इसको और कोई क्वेश्चन नंबर 3 उदय के आगे जो

कंडीशन से उसको फॉलो करते हैं सीखे तो आप एक समान हो जाएगा यहां पर वी के बराबर में कितनी यू जादू के पास ऑब्जेक्ट डिस्टेंस अच्छे के लिए बराबर और आपके पास इन 18 सेंटीमीटर बेसिकली 3 प्लस जो होगा 3 प्लस योग तो यहां से अगर वैल्यू पुट करें एक्स एक्स 3 = सॉरी सी यू इक्वल टू 3 मोमबत्ती योजना प्लस यू यहां से यू का माना गया के पास तीन बटे दो एक बटे

दो 1 पॉइंट 5 1 पॉइंट 5 सेंटीमीटर एक आगे आपके पास दूरी और आप से पूछ ले रखा है अवतल दर्पण को दीवार से कितनी दूर है कहने की आपूर्ति में निकालनी है * 3 कहां से 1 मिनट से सोजत 4 पॉइंट 5 सेंटीमीटर भैया से पूछा था कि कितनी दूर रखें तो आ गया 504 पॉइंट 5 सेंटीमीटर इसका आंसर है

Flour Mill Business : आटा चक्की व्यवसाय कैसे शुरू करें? जानिए पूरी जानकारी एक क्लिक पर

Flour Mill Business : How To Start Flour Mill Business? Know complete information on one click

Flour Mill Business: जब हम आटे की बात करते हैं, तो सबसे पहले जो बात हमारे दिमाग में आती है वह है गेहूं का आटा, लेकिन हम विभिन्न प्रकार के अनाज को एक चक्की में पीसकर आटा बना सकते हैं, चाहे वह बाजरा हो या चावल या बेसन।

मैदा का इस्तेमाल हर घर के किचन में होता है। इसके बिना भारतीय खाने की कल्पना नहीं की जा सकती। सीधे शब्दों में कहें तो भारत एक कृषि प्रधान देश है (Agricultural Country) वह जगह है जहाँ चक्की और आटा दोनों का महत्वपूर्ण स्थान है।

बदलते समय के साथ आटा मिलें (Flour Mill) भले ही रूपरेखा बदल गई हो। भारत में आटा चक्की का धंधा सदियों से चला आ रहा है। यह धंधा कभी न खत्म होने वाला धंधा है क्योंकि आटे का इस्तेमाल कभी खत्म नहीं हो सकता। तो अगर आप भी आटा चक्की का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो यह ब्लॉग आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाला है। तो आइए इस ब्लॉग में आटा चक्की व्यवसाय के बारे मोमबत्ती योजना में जानें।

आटा चक्की का व्यवसाय कैसे शुरू करें (Flour Mill Business)

आटा चक्की का बिजनेस आप गांव और शहर में कहीं भी कर सकते हैं। आप चाहें मोमबत्ती योजना तो इसे घर से भी शुरू कर सकते हैं। जिसमें आपको एक कमरे की आवश्यकता होगी और आप चाहें तो अपनी आय के आधार पर एक दुकान खोल सकते मोमबत्ती योजना हैं, इससे आपको अधिक लाभ होगा।

आटा चक्की व्यवसाय शुरू करने के लिए स्थल का चयन

छोटे पैमाने पर मिल का व्यवसाय अपने मोहल्ले से या अपने घर से चलाना अच्छा रहेगा क्योंकि आपके पास कुछ भी पीसने के लिए आसपास के लोग आएंगे। यदि आप किसी भी शहर में इस व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं, तो अपनी दुकान किसी कॉलोनी के पास या किसी कॉलोनी में रखना याद रखें जहां अधिक से अधिक लोग आते हैं और जाते हैं ताकि अधिक से अधिक लोगों को आपकी दुकान के बारे में जल्द से जल्द पता चल सके।

आटा चक्की व्यवसाय में लाभ

एक आटा चक्की व्यवसाय हमेशा एक लाभदायक व्यवसाय उद्यम होता है क्योंकि यदि आप इसे घर पर करते हैं, तो आप अपनी चक्की का काम भी देख सकते हैं ताकि आपके पास पैसा कमाने के लिए कहीं न कहीं हो। बाहर जाने की जरूरत नहीं है।

आटा मिलों के प्रकार

स्टोन मिल, डीजल से चलने वाली मिलें और इलेक्ट्रिक ग्राइंडर

दगडी चक्की

स्टोन मिल को गांव में जनता भी कहा जाता है, जिसका इस्तेमाल पहले गांव की ज्यादातर महिलाएं करती थीं, आटा पीसने में काफी मेहनत लगती है। तो इसका उपयोग अब बहुत कम होता है।

डीजल से चलने वाली मिल

इस मिल को चलाने में बिना ज्यादा मेहनत किए डीजल का इस्तेमाल होता है, जिसमें डीजल की कीमत आपके पीसने पर निर्भर करती है। पिछले कुछ समय से डीजल की कीमत में बढ़ोतरी के कारण इसकी खपत में भी कमी आई है।

इलेक्ट्रिक मिल

इलेक्ट्रिक मिलें इन दिनों चलन में हैं क्योंकि उन्हें अधिक प्रयास की आवश्यकता नहीं है और बाजार में सस्ते दरों पर आसानी से उपलब्ध हैं।

मार्केटिंग की जानकारी

कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले वहां के लोगों की डिमांड और पसंद को जानना बहुत जरूरी है, इसलिए जहां से आप अपना बिजनेस शुरू कर रहे हैं, वहां के लोगों के बारे में जान लें कि लोग वहां जीजी को कैसे लेना पसंद करते हैं। जिससे आप अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं। ग्राहक प्राप्त करें और अच्छा लाभ प्राप्त करें। यदि आप इस व्यवसाय को किसी गाँव में शुरू कर रहे हैं तो लोग इसे वहाँ खोलना पसंद करते हैं लेकिन दूसरी ओर यदि आप इस व्यवसाय को किसी समाज या कॉलोनी में शुरू करते हैं तो उच्च वर्ग के लोग आटे के अधिकांश पैकेट खरीदना पसंद करते हैं इसलिए आपको अपनी व्यवस्था भी करनी चाहिए पैकिंग।

आटा चक्की व्यवसाय के लिए लाइसेंस एवं पंजीकरण

यदि आप इस व्यवसाय को छोटे पैमाने पर यानि अपने घर से शुरू करना चाहते हैं तो आपको किसी भी प्रकार के कानूनी लाइसेंस या पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है लेकिन यदि आप बड़े पैमाने पर मिल व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आपको इसकी आवश्यकता है। इसके लिए पंजीकरण की आवश्यकता है।

पंजीकरण (Regiastration)

खाद्य लाइसेंस, जीएसटी पंजीकरण, व्यापार लाइसेंस और व्यवसाय पंजीकरण

आटा चक्की व्यवसाय में प्रयुक्त होने वाला कच्चा माल

गेहूं, चावल, दाल, बाजरा, मक्का और सूखे सींग

आटा पिसाई व्यवसाय में लागत और लाभ

आटा चक्की का व्यवसाय बहुत ही कम लागत में शुरू किया जा सकता है। बाजार में इन दिनों कई आटा पिसाई मशीनें हैं, जो आपको महज 25-30 हजार रुपये में मिल सकती हैं। लेकिन अगर आप दुकान के लिए ग्राइंडिंग मशीन खरीदना चाहते हैं तो आपको 01 लाख तक का निवेश करना होगा। अब अगर हम लाभ की बात करें तो आप इससे लगभग 20 से 30 हजार प्रति माह कमा सकते हैं।

सरकारी सहायता और सब्सिडी

अगर आप आटा चक्की का व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो सरकार भी आपके इस सपने को साकार करने में मदद करती है। आप भारत सरकार की मुद्रा योजना के तहत ऋण लेकर अपना मिल व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

क्या मोमबत्तियां कैंसर का जोखिम दे सकती है? आइए जानते हैं इस दावे की सच्चाई

एलईडी बल्ब और लाइट के पहले मोमबत्तियों (effect of candle on health) की रोशनी का ही सहारा था। लेकिन क्या इसे जलाना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक है? जानिए इस प्रश्न का जवाब।

Candles karti hai health ko affect

मोमबत्ती कर सकती है आपके स्वास्थ्य को प्रभावित। चित्र:शटरस्टॉक

आज की दुनिया में, मोमबत्तियों का उपयोग सजावट के रूप में, समारोहों और आरामदेह सुगंधों के लिए किया जाता है। अधिकांश आधुनिक मोमबत्तियां पैराफिन मोम से बनाई जाती हैं। लेकिन वे आमतौर पर मोम, सोया मोम या ताड़ के मोम से भी बनी होती हैं।

इस विषय पर इन दिनों अच्छी खासी बहस चल रही है कि मोमबत्ती जलाना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। कुछ लोग दावा करते हैं कि मोमबत्तियां संभावित रूप से हानिकारक टॉक्सिक पदार्थों को छोड़ती हैं। हालांकि, तर्क के दूसरे पक्ष के लोगों का कहना है कि मोमबत्तियों में इतनी ज्यादा मात्रा में विषाक्त पदार्थ नहीं होते कि वे सेहत को नुकसान पहुंचा सकें। बिना बहस में पड़े, हम इसके सेहत पर होने वाले प्रभावों की जांच करने वाले हैं।

क्या मोमबत्तियां जहरीली होती हैं? (Are candles toxic?)

इंटरनेट पर कई लेख हैं, जो मोमबत्ती जलाने के खतरों के बारे में बताते हैं। हालांकि, इनमें से कई लेख अपने दावों के समर्थन में एविडेंस या मोमबत्ती योजना बिना किसी सबूत का उपयोग करते हैं।

क्या मोमबत्ती की बत्ती लीड की बनी होती है? (Are candles light made of lead?)

वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में मोमबत्ती की बाती में लीड नहीं होता है। 2003 में, यू.एस. कंज्यूमर प्रोडक्ट सेफ्टी कमीशन (CPSC) ने लीड की बत्तियों के साथ मोमबत्तियों की बिक्री और निर्माण पर प्रतिबंध लगाने के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने अन्य देशों से लीड युक्त मोमबत्तियों के आयात पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

Candles ka sehat par prabhav jaane

मोमबत्ती का सेहत पर प्रभाव जानें। चित्र- शटरस्टॉक

अधिकांश मोमबत्ती निर्माताओं ने 1970 के दशक में अपनी मोमबत्तियों में लीड का उपयोग बंद कर दिया। इस चिंता के कारण कि धुएं से निकला लीड टॉक्सिक हो सकता है। विशेष रूप से बच्चों की सेहत को ध्यान में रखते हुए लीड युक्त मोमबत्तियों को बाजार से हटा दिया गया था।

क्या मोम जहरीले रसायनों से बना है? (Are candle wax made of harmful chemicals?)

अधिकांश आधुनिक मोमबत्तियां पैराफिन मोम से बनाई जाती हैं। इस प्रकार का मोम पेट्रोल बनाने के उपोत्पाद के रूप में पेट्रोलियम से बनाया जाता है।

2009 के अध्ययन में पाया गया कि पैराफिन मोम जलाने से टोल्यूनि जैसे संभावित खतरनाक रसायन निकलते हैं। हालांकि, यह अध्ययन कभी भी एक पत्रिका में प्रकाशित नहीं हुआ था, और नेशनल कैंडल एसोसिएशन एवं यूरोपियन कैंडल एसोसिएशन ने अध्ययन की विश्वसनीयता के बारे में सवाल उठाए थे।

यूरोपियन कैंडल एसोसिएशन द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, “उन्होंने समीक्षा के लिए कोई डेटा प्रदान नहीं किया है, और उनके निष्कर्ष असमर्थित दावों पर आधारित हैं। किसी भी प्रतिष्ठित वैज्ञानिक अध्ययन ने मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने के लिए पैराफिन समेत किसी भी मोमबत्ती मोम को कभी नहीं दिखाया है।”

यूरोपियन कैंडल एसोसिएशन द्वारा वित्त पोषित 2007 के एक अध्ययन में 300 जहरीले रसायनों के लिए हर प्रमुख प्रकार के मोम की जांच की गई।

शोधकर्ताओं ने पाया कि प्रत्येक प्रकार की मोमबत्ती से निकलने वाले रसायनों का स्तर मानव स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनने वाली मात्रा से काफी कम था।

क्या सेंटेड कैंडल्स जहरीली होती हैं? (Are scented candles toxic?)

सुगंधित मोमबत्तियां जलाने से फॉर्मलाडेहाइड जैसे वेपोराइजिंग कार्बनिक केमिकल निकल सकते हैं, जो आपके लिए कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं।

भले ही सुगंधित मोमबत्तियां इन यौगिकों को छोड़ती हैं, पर यह स्पष्ट नहीं है कि क्या वे आपके स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं। सुगंधित मोमबत्तियों से एलर्जी की प्रतिक्रिया होना भी संभव है। इसके लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

  1. छींक आना
  2. बहती नाक
  3. साइनस ब्लॉकेज

candles ke dhuyen se aa sakti hai cheenk

मोमबत्ती के धुएं से आ सकती है लगातार छींक। चित्र : शटरस्टॉक

आपके स्वास्थ्य के लिए कौन सी मोमबत्तियां सबसे अच्छी हैं?

एक अध्ययन के अनुसार, पाम स्टीयरिन से बनी मोमबत्तियां पैराफिन से बनी मोमबत्तियों की तुलना में आधा धुआं ही छोड़ती हैं। शोधकर्ता यह भी बताते हैं कि प्राकृतिक मोमबत्तियों से संभावित खतरनाक रसायनों की सबसे कम मात्रा निकलती है।

कुछ प्राकृतिक मोमबत्तियों के विकल्पों में शामिल हैं:

  1. नारियल का मोम
  2. सोया मोम
  3. ताड़ का मोम
  4. वेजिटेबल वैक्स

सारांश

मोमबत्ती जलाने से ऐसे रसायन निकलते हैं, जो मानव स्वास्थ्य के लिए संभावित रूप से खतरनाक हो सकते हैं। हालांकि, ऐसा कोई निश्चित शोध नहीं है जो यह दर्शाता हो कि मोमबत्ती के धुएं के संपर्क में आने से किसी भी स्वास्थ्य स्थिति के विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है।

किसी भी तरह का धुंआ सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। यदि आप नियमित रूप से मोमबत्तियों का उपयोग करने की योजना बनाते मोमबत्ती योजना हैं, तो यह एक अच्छा विचार है कि आप उन्हें हवादार कमरे में जला दें। इससे आपके द्वारा सांस लेने वाले धुएं की मात्रा को कम किया जा सकता है।

रेटिंग: 4.26
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 78
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *